Wednesday, November 29, 2017

सावधान! ATM कार्ड इस्तेमाल करने वालो, इस 1 नियम से आप हजारों रुपए रोज बचा सकते हैं

सावधान! ATM कार्ड इस्तेमाल करने वालो, इस 1 नियम से आप हजारों रुपए रोज बचा सकते हैं.

: क्या आपको पता है सरकार ने हमारे लिए कितने सारे अधिकार दे रखे हैं? कुछ अधिकार तो आपको पता होंगे जैसे बोलने की आजादी, लेकिन शा.द आपको खरीददारी करते वक्त जो उपभोक्ता को अधिकार प्राप्त होते हैं वो नहीं जानते होंगे. आजकल सभी लोग ऑनलाइत खरीददारी करते हैं और ऐसे में लोग अपने ATM कार्ड का उपयोग करते हैं. लेकिन इससे पेमेंट करने की वजह से आपको कभी-कभी ज्यादा पैसे भी देने पड़ जाते हैं.

तो चलिए आज हम आपको आपके अधिकारों के बारे में बताते हैं, डेबिट/क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर उल्टे आपके पैसे अब बचेंगे. दरअसल, कंज्युमर्स को कई अधिकार मिल हुए हैं लेकिन अधिकतर लोग इनसे अवेयर नहीं हैं. डेबिट/क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने वाले यूजर ही एक्स्ट्रा पैसा देते रहते हैं लेकिन उन्हें इसके बारे में मालूम ही नहीं होता.

डेबिट/क्रेडिट कार्ड यूज करने पर मर्चेंट ग्राहकों से सर्विस चार्ज के नाम पर 2% एक्स्ट्रा पैसा वसूल करते हैं. बड़े अमाउंट में यह 2% एक मोटी राशि होती है. जैसे आप 30 हजार रुपए की शॉपिंग करते हैं तो आपको 2% यानी 600 रुपए मर्चेंट को एक्स्ट्रा देना पड़ते हैं. जबकि यह पैसा आपको देना ही नहीं होता. फिर भी मर्चेंट आप से वसूलता है.

जो भी मर्चेंट स्वाइप मशीन की सुविधा देते हैं, उन्हें यह मशीन बैंक से लेना होता है. इस मशीन के रेंट के तौर पर संबंधित बैंक मर्चेंट से 2% चार्ज वसूल करता है. मर्चेंट इस चार्ज से बचने के लिए यह राशि ग्राहकों से वसूल करते हैं.

आपको बता दें कि RBI काफी पहले एक सर्कुलर जारी कर चुका है, इसमें साफ कहा गया है कि कोई भी मर्चेंट ग्राहक से इस तरह से चार्ज वसूल नहीं कर सकता. अगर कोई मर्चेंट आपसे इस तरह से कर रहा है तो वो गलत है. आप तुरंत कंज्युमर फोरम में इसकी शिकायत कर सकते हैं.

आपको बता दें कि ऐसे एक केस में एक लॉ स्टूडेंट केस भी जीत चुका है. स्टूडेंट ने एक्स्ट्रा चार्ज देने से इंकार किया था. जब मर्चेंट नहीं माना तो उसने इसकी शिकायत कंज्यूमर फोरम में की. फोरम ने स्टूडेंट के हक में फैसला सुनाया था. मर्चेंट को 25 हजार रुपए देने पड़े थे.

सावधान! ATM कार्ड इस्तेमाल करने वालो, इस 1 नियम से आप हजारों रुपए रोज बचा सकते हैं Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Galchar Mukeshkumar

0 comments:

Post a Comment

Popular Posts

Developed By sarkar